सुशांत सिंह राजपूत केस में बढ़ती पेचीदगियां, पढ़िये शिबली रामपुरी की तफसीली रिपोर्ट

            (शिब्ली रामपुरी)

सुशांत सिंह राजपूत केस में पेचीदगियां बढ़ती जा रही है. एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं. इस केस की जांच सीबीआई हर एंगल से कर रही है और हर एक का पक्ष जानने का पूरा प्रयास किया जा रहा है मामले की तह तक पहुंचने के लिए सीबीआई कोई कमी बाकी नहीं रखना चाहती है. जिसके चलते सीबीआई अब तक कई लोगों से पूछताछ कर चुकी है और कई और ऐसे चेहरे हैं कि जिनसे पूछताछ होना संभव नजर आता है. पहले इस मामले में बैंक से पैसा निकालने और फिर काला जादू तक की बातें सामने आई और अब इसमें नशे की भी एंट्री हो गई है.बताया जा रहा है कि ड्रग्स भी लिया जा रहा था. वैसे तो बॉलीवुड में ड्रग्स का कनेक्शन कोई नई बात नहीं है इससे पहले भी कई ऐसे चेहरे हमारे सामने आ चुके हैं कि जो नशे के लिए काफी बदनाम रहे हैं और वह चेहरे काफी पॉपुलर भी हैं. कई ऐसे एक्टर और फिल्म अभिनेत्रीयां रही कि जिन्होंने ड्रग्स लेना आरंभ किया लेकिन वक्त के साथ उन्होंने ड्रग्स को छोड़ दिया और कुछ ने तो ड्रग्स के चक्कर में पुलिस थाने के चक्कर भी लगाए और कई ने तो खुद ही खुलासा किया कि वह कई साल तक ड्रग्स के चक्कर में फंसे रहे और काफी मुश्किल के बाद वह इस से बाहर निकल सके. संजय दत्त से लेकर मनीषा कोइराला तक का नाम नशे से जुड़ चुका है कि वह किस हद तक नशा करने लगे थे. संजय दत्त पर तो एक फिल्म संजू बनाई गई थी जिसमें साफ़ दिखाया गया था कि नशे की गर्त में संजय दत्त किस कदर पहुंच चुके थे. जहां तक सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला है तो इसमें भी ड्रग्स का एंगल सामने आया है अब सीबीआई इस मामले में और गहराई से जांच में जुट गई है. माना जा रहा है कि ड्रग्स को लेकर कई और चेहरे बेनकाब हो सकते हैं. सुशांत की मौत के मामले में मशहूर अभिनेत्री कंगना रनौत भी पूरी तरह से मुखर हैं और वह सोशल मीडिया पर एक के बाद एक ट्वीट कर रही है और लगातार बयान भी दे रही है और कई लोगों पर आरोप-प्रत्यारोप भी लगाएं हैं. जिस तरह का माहौल फिलहाल सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बन रहा है उससे यही लगता है कि इस मामले में कई चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं और जब से यह मामला सीबीआई को सौंपा गया है तो उम्मीद जगी है कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्मा को जरूर इंसाफ मिलेगा और जो कुछ भी उनके साथ हुआ है या जिस मजबूरी में उन्होंने किया है वह दूध का दूध और पानी का पानी हो कर सत्य के रूप में देश की जनता के सामने आएगा. हालांकि कुछ मीडिया संस्थान इस मामले को जरूरत से ज्यादा तूल दे रहे हैं लेकिन फिर भी यह कहना गलत नहीं होगा कि सुशांत सिंह राजपूत के मामले पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं. देश की जनता यह जानना चाहती है कि आखिर सुशांत सिंह राजपूत की मौत कैसे हुई.